yuvi-thesecularindia

टीम इंडिया के पूर्व स्टार क्रिकेटर युवराज़ सिंह के खिलाफ़ हरियाणा के हांसी ज़िले में शिकायत दर्ज़ कराई गई हैं। अनुसूचित जनजाति के सामाजिक कार्यकर्ता रजत कलसन ने युवराज़ सिंह के खिलाफ़ अनुसूचित जाति के बारे में अपमानजनक टिप्पणी करने का आरोप लगाया हैं। जिसके बाद अनुसूचित जाति आयोग ने भी इस मामले में पुलिस से 15 दिन के अंदर रिपोर्ट देने को कहा हैं।

कुछ दिन पहले युवराज़ सिंह टीम इंडिया के उपकप्तान रोहित शर्मा से साथ इंस्टाग्राम पर लाईव वीडियो चैट कर रहें थे। जहां उन्होंने मज़ाक मज़ाक में युजवेंद्र चहल के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी। युवराज़ सिंह युजवेंद्र चहल द्वारा इंस्टाग्राम पर की गई पोस्टों का ज़िक्र कर रहें थे। जिसके बाद एडवोकेट रजत कलसन ने उनके खिलाफ़ पुलिस में शिकायत दर्ज़ करा दी। हांसी के एसपी लोकेंद्र सिंह ने कहा हैं के अभी एफआईआर दर्ज़ नही की गई हैं।युवराज़ के खिलाफ़ अभी जांच चल रहीं हैं।

शिकायत दर्ज़ होने के बाद युवराज़ सिंह ने सार्वजनिक तौर पर अनुसूचित जनजाति के लोगो से माफ़ी भी मांग ली हैं। युवराज़ ने कहा ‘ में ये स्पष्ट कर देना चाहता हुँ की मैंने जाति धर्म या रंग के आधार पर कभी भी किसी भी प्रकार की असमानता में विश्वास नहीं किया हैं। मैंने हमेशा अपना जीवन जनकल्याण के लिए बिताया हैं और आगे भी इसी तरह जारी रखूंगा। मुझें लगता है मुझें मेरे दोस्त (रोहित शर्मा) के साथ बात करतें हुए ग़लत समझ लिया गया जो की अनुचित था। अगर अनजाने में किसे की भो भावनाओं को ठेस पहुंची हो तो एक जिम्मेदार भरतीय होने के नाते में आप सभी से माफ़ी मांगता हूँ।

हालांकि युवराज़ सिंह के माफ़ी मांग लेने के बाद भी एडवोकेट रजत कलसन ने अपनी शिकायत वापस नहीं ली हैं। साथ ही अनुसूचित जाति आयोग से भी युवराज के माफ़ी मांगने के बाद कोई औपचारिक बयान नहीं आया हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here