बाबा का ढाबा के नाम से प्रसिद्ध कांता प्रसाद ने गुरुवार को रात क़रीब 11 बजे नशीला पदार्थ खा कर आत्महत्या की कोशिश करी जिसके बाद पुलिस ने उन्हें दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया है

पुलिस आयुक्त अतुल कुमार ठाकुर के मुताबिक आतमहत्या के मुकदमा दर्ज किया गया है कांता प्रसाद ने शराब में नींद की गोलियां मिलाकर जान देने की कोशिश की थी शिकायत मिलने पर पुलिस तुरंत पहुँची और प्रसाद को अस्पताल में भर्ती कराया।

कांता प्रसाद के बेटे करण ने पुलिस को बताया कि उसके पिता ने शराब और नींद की गोलियां ली थीं जिसके बाद वह दुकान पर ही बेहोश हो गए थे कांता प्रसाद की पत्नी ने मीडिया संवाददाताओं से कहा, “मुझे नहीं पता कि उन्होंने क्या खाया, क्या पिया। बेहोश होने के बाद हम उन्हें अस्पताल ले गए। डॉक्टरों ने हमें कुछ नहीं बताया। मुझे नहीं पता कि वह क्या सोच रहें था।”

पिछले साल गौरव नाम के एक यूटूबर ने सड़क किनारे चल रहें बाबा का ढाबा नाम की कांता प्रसाद कि खाने की दुकान का वीडियो बनाया था जिसमें प्रसाद अपनी आर्थिक परेशानियों का ज़िक्र करते हुए रो रहे थे वीडियो इंटरनेट पर जमकर वायरल हुआ देश के कई हिस्सों से लोगो कांता प्रासाद को चंदा भी दिया। रातो रात लाखों रुपये का चंदा मिलने के बाद उन्होंने सड़क किनारे ढाबा बंद कर एक रेस्टुरेंट खोल दिया रेस्टुरेंट खोलने में कई लाख का ख़र्चा भी आया मगर कुछ दिन बाद लोग आने कम हो गए जिसके बाद उन्हें घाटा होना शुरू हो गया जिस कारण उन्हें 15 फरवरी को रेस्टुरेंट बंद करना पड़ा और फ़िर से सड़क किनारे ढाबा खोल लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here