राजस्थान की गहलोत सरकार पर जारी सियासी संकट में अब नया मोड़ ले लिया हैं। विधानसभा अधयक्ष डॉ चंद्रा प्रकाश जोशी के भेजे गए नोटिस के खिलाफ़ सचिन पायलट समेत उनके 18 विधायकों ने राजस्थान हाई कोर्ट में याचिका दायर की जिस पर आज कऱीब तीन बजे सुनवाई हो सकती हैं।

दरअसल पायलट ख़ेमे का कहना है की वर्तमान में विधानसभा स्थगित हैं किसी प्रकार की सदन में करवाई नही चल रहीं हैं जिसके कारण आर्टिकल 266 के अंतरगत भेजा गया नोटिस गैरकानूनी हैं। पार्टी द्वारा जारी की गयी व्हिप में ना शामिल होने पर इस तरह की करवाई नहीं हो सकती।

पायलट ख़ेमे द्वारा दायर याचिका की सुनवाई जस्टिस सतीश चंद शर्मा करेंगे। कोरोना वायरस संक्रमण के कारण जस्टिस सतीश चंद शर्मा के घर पर ही सुनवाई होगी। वही राज्यसरकार भी पायलट गुट के खिलाफ आज कैवियट दायर कर सकती है। कैवियट दायर करने के बाद कोर्ट को दायर याचिका पर सुनवाई होने से पहले सरकार का पक्ष सुनना होगा।

गौरतलब है की कल ही सचिन पायलट ने बीजेपी में शामिल होने से खबरों से साफ़ इनकार कर दिया था। जिसके बाद से ही क्यास लगाए जा रहे थे के पायलट कानूनी तौर पर अपने आप को मजबूत कर फ़िर जनता के सामने अपना पक्ष रख सकते हैं। वही राजस्थान सरकार में मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बीजेपी और सचिन पायलट पर बड़े आरोप लगाए उन्होंने कहा पायलट बीजेपी के साथ मिलकर जनता के वोटो से चुनी हुई सरकार को नोटों के दम पर गिराने का प्रयास कर रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here