R-thesecularindia

राजस्थान में जारी सियासी उठापटक के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर हुई विधायक दल की बैठक में कांग्रेस के 90 विधायक शामिल हुए। वविधायक दल की बैठक से पहले कल बतौर पर्यवेक्षक दिल्ली से राजस्थान भेजे गए अजय माकन,रणदीप सुरजेवाला और अविनाश पाण्डेय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पार्टी में चल रहें अंदुरुनी कलेश पर पार्टी का पक्ष रखा।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में रणदीप सुरजेवाला ने कहा राजस्थान की जनता ने हमे उनकी सेवा के लिए चुना सभी की किसी ना किसी से प्रतिस्पर्धा होती हैं पर किसी भी व्यक्ति की महत्वकांशा जनता ने जो हम पर विश्वास जताया उस से ज्यादा नहीं हो सकती पिछले 48 घण्टे में सचिन पायलट से काफ़ी बार पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने बात कर विवाद को पार्टी में आपसी बातचीत से सुलझाने का विश्वास दिलाया हैं।

सुरजेवाला ने कहा लोकतांत्रिक प्रणाली में वैचारिक मतभेद होने संभव हैं पर उसके कारण अपनी ही चुनी हुई सरकार को कमज़ोर करना सही नही हैं सुरजेवाला ने सभी कांग्रेस विधायकों से विधायक दल की बैठक में शामिल हो कोंग्रेस की सरकार को मजबूत करने और राजस्थान की प्रगती में भागीदार बनने की अपील की।

बताया जा रहा हैं के अगर सचिन पायलट समेत सभी बागी विधायक अगर बैठक में शामिल नही होते है तो सभी की सदस्यता रद्द कर दी जाएगी। हालांकि विधायक दल की बैठक का समय बढ़ा दिया गया हैं। राजस्थान में तख्ता पलट होने की स्तिथि के कारण कांग्रेस के बड़े नेता भी चिंता में हैं। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल ख़ुद राजस्थान की राजस्थान की राजनीतिक परिस्थितियों पर नज़र बनाये हुए हैं। क्यास लगाया जा रहा है अगर सचिन पायलट पार्टी की बैठक में नही पहुँचे तो श्याम को वह जेपी नड्डा से मुलाकात कर भाजपा में शामिल हो सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here