भारत देश में चुनाव को राजनीतिक मेला कहा जाता है, कहा जाता है कि, जो इसमें बढ़-चढ़कर भाग लेता है सरकार उसी की बनती है, चाहे आपने काम किया हो या नहीं या फिर आप किसी का चेहरा दिखा कर चुनाव जीतना हो, या यूं कहे की वोटों की नहीं नोटों की राजनीति की जाए नोटों से वोट मांगे जाए वह भी सही. लेकिन काम की राजनीतिक नहीं विकास की राजनीतिक नहीं सिर्फ सत्ता की राजनीतिक और चुनाव इस पर ही होता है .

हालांकि हमारी इन सभी बातों का मतलब अब यह है कि, बंगाल के बाद अब यूपी में विधानसभा चुनाव होने हैं. बीजेपी वालों के पास इसके लिए अब ज्यादा वक्त तो नहीं है. मात्र 1 साल है जिसकी तैयारियां अभी से चल रही है. इसी पर तंजा करते हुए पुण्य प्रसून बाजपाई ने कहा कि ,बीजेपी अब यूपी में ही घर बसा लेगी वहां अब बड़े-बड़े नेताओं का आना जाना रहेगा कुछ दिनों के लिए तो अब हमारे प्रधानमंत्री यूपी के प्रधानमंत्री बन जाएंगे.

आपको यह भी बता दे कि ,पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में बीजेपी के सभी बड़े-बड़े नेताओं ने जमकर रैलियां की थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल में 18 विशाल रैलियों को संबोधित दिया था प्रधानमंत्री जिस तरीके से चुनाव प्रचार में जुटे थे. उसे लेकर कुछ लोगों ने उनकी बहुत आलोचना की थी कोरोना वायरस की महामारी देश में अपने पैर धीरे-धीरे पसार रहे थे .उसी बीच केंद्रीय नेतृत्व बंगाल चुनाव में व्यस्त था .इसे लेकर पीएम को काफी सारी आलोचनाएं झेलनी पड़ी थी लेकिन शायद अब भी केंद्र को इस बात का चेत नहीं है .

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं .जिसे लेकर भाजपा के अंदर राजनीतिक हलचल तेज हो चुकी है .वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपाई ने इस मुद्दे को लेकर पीएम मोदी पर तंजा कसा है. उन्होंने बातों बातों में कह दिया कि प्रधानमंत्री अब कुछ दिन के लिए यूपी के प्रधानमंत्री रहेंगे बाजपेई ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया तो कुछ महीनों के लिए बंगाल के बाद अब यूपी के पीएम बनेंगे नरेंद्र मोदी जी.

इसके बाद तो जैसे ट्विटर में हंगामा ही मच गया हो बहुत से यूजर्स ने अपनी अपनी प्रतिक्रियाएं लिखी गुस्ताखी माफ नाम की एक यूजर ने लिखा कि ,कुछ भी कर लो योगी तुम्हारा जाना तो 100% तय है. चाहे तुम चुनाव से पहले जाओ या चुनाव के बाद.आपको बताते चलें कि उत्तर प्रदेश में कोविड महामारी से निपटने को लेकर योगी सरकार की खूब आलोचना हुई है .

बताया जा रहा है कि कुछ विधायक भी योगी आदित्यनाथ से नाराज चल रहे हैं. जिसे लेकर केंद्र और योगी आदित्यनाथ के बीच बैठक का दौर महीनों से जारी था .राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की भी अटकलें आ रही थी. बीजेपी की तरफ से यह स्पष्ट किया गया है कि, अगला चुनाव योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा.

बरहाल उत्तर प्रदेश चुनाव के मद्देनजर बीजेपी की ट्वीट पर अन्य लोगों ने प्रतिक्रिया देखने को मिली. जिसमें रवीश कुमार पैरोडी अकाउंट से ट्वीट किया गया कि बिल्कुल अब सिर्फ पीएम यूपी के हैं जब तक चुनाव होंगे. इसी के साथ एक्यूजर ने एक पत्रकार को जवाब देते हुए ट्वीट किया कि ,देखना दिलचस्प होगा कि यूपी का चुनाव योगी जी अपने दम पर लड़ेंगे या फिर मोदी जी के छवि पर यदि काम पर लड़के तो मुश्किल होगा लेकिन सम्मान बना रहेगा. यदि मोदी जी की छवि पर लड़ेंगे तो समझा जाएगा कि उन्होंने यूपी में कुछ काम ही नहीं किया विकास की बात तो दूर है.

कुछ यूजर्स ने लिखा कि पहले गंगा मैया ने बुलाया था. अब किसका नाम लेंगे मोदी जी दिलचंद जागरण लिखते हैं कि, और इनका काम ही क्या है. एक के बाद एक चुनाव में निकपटना और देश को भगवान भरोसे छोड़ देना.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here