भारतिय राजनीति में दल बदलना कोई नई बात नहीं है अक्सर कई नेता अपनी राजनीतिक महत्वकांशाओ के चलते विचारधारा को कचरे की पेटी में दाल दूसरे दलों के साथ समझौता कर लेते है ज्योतिरादित्य सिंधिया हो जितिन प्रसाद या कोई और पद पैसों या अपने निज़ी स्वार्थ के चलते अक्सर हमने कई नेताओं को पार्टी बदलते देखा है।

कुछ ही महीनों के बाद सूबे के सबसे बड़े प्रदेश यूपी में चुनाव होने वाले है सभी नेता टिकट की क्वायतो में लग गए है जिन्हें अपने दल से उम्मीद है वो वहीं है जिन्हें अभी स्थिति स्पष्ट नज़र नही आ रही उन्होंने दूसरे दलों का दामन थामना शुरू कर दिया है।

इस कड़ी में आज साहिबाबाद के पूर्व विधायक अमरपाल शर्मा लखनऊ में अखिलेश यादव की मौजूदगी में समाजवादी पार्टी में शामिल हो गये अमरपाल शर्मा ने तीसरी बार पाला बदला है वह साल 2012 में बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर चुनाव जीत कर विधानसभा पहुँचे थे 2017 तक वह बसपा में ही रहे पर 2017 विधानसभा चुनाव में मायावती ने उन्हें पार्टी के खिलाफ़ गतिविधियों के चलते निष्कासित कर दिया जिसके बाद उन्होंने कांग्रेस का दामन थामा 2022 विधानसभा चुनाव नजदीक है वक़्त की नज़ाकत को समझते हुए अब एक बार फ़िर शर्मा ने दल बदल लिया है।

बसपा के कई विधायक भी हो सकते है समाजवादी पार्टी में शामिल

बहुजन समाज पार्टी के कई विधायक भी अखिलेश यादव के संपर्क में है सूत्रों की माने तो सभी ने अखिलेश से समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ने का आश्वासन मांगा है जिसे अखिलेश ने मान भी लिया है जल्द ही सही समय पर सभी समाजवादी पार्टी में शामिल हो सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here