देश में चुनावी मौसम सदैव चला रहता हैं और उन्हीं चुनावों में राजनेताओं को जरूरत होती हैं एक बेहतर रणनीति व तकनीक से अवगत कराने वाले राजनीतिक विश्लेषक व रणनीतिकार की और उन्हीं रणनीति सलाहकारों में से एक नाम हैं उज्जवल त्यागी। उज्जवल देश में चल रहे हर मुद्दे पर अपनी पैनी नज़र बनाएं रखते हैं और यही वजह हैं कि उज्जवल अपने ज्ञान व कार्यशैली की बदौलत नेताओं के लिए बेहतर रणनीति बनाने में सफल रहते हैं।

मूल रूप से हापुड़ ज़िले के सबली गाँव के रहने वाले उज्जवल को बेहद कम उम्र में ये महारत हासिल हुई हैं। उज्जवल को बतौर रणनीतिकार काफ़ी अच्छा तजुर्बा हैं और अपने इसी तजुर्बे का प्रयोग वो निकाय चुनाव से लेकर लोकसभा चुनाव तक में कई राजनेताओं को जीत के मुक़ाम तक पहुँचा चुके हैं। वर्तमान में उज्जवल जनाधार इंडिया इलेक्शन मैनेजमेंट कंपनी में बतौर राजनीतिक विश्लेषक कार्यरत हैं। साल 2018 से अबतक उज्जवल अलग अलग प्रदेशों के चुनाव में अपनी छाप छोड़ चुके हैं। त्यागी ने मध्यप्रदेश,झारखंड, बंगाल,दिल्ली,उत्तरप्रदेश के चुनावों में अपने कुशल बुद्धि व प्रखर रणनीति का परिचय देते हुए राजनेताओं को उनकी मंजिल तक पहुचाने में मुख्य किरदार अदा किया। फ़िलहाल उज्जवल आगामी बंगाल,उत्तरप्रदेश,हिमांचल प्रदेश, उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए अपनी नजरें गड़ाए हुए हैं।

उज्जवल की शिक्षा की बात करे तो उज्जवल अभी पत्रकारिता की पढ़ाई कर रहे हैं। रणनीतिकार होने के साथ त्यागी एक बेहतरीन प्रवक्ता भी हैं। समाज में चल रहे मुद्दे व लोगों की समस्याओं के लिए उज्जवल हमेशा अपनी बात रखते हैं। वो बताते हैं कि वो खुद राजनीति में उतरकर लोगों की आवाज़ बनाना चाहते हैं, लेकिन इंतेजार हैं तो सही समय का।

चुनाव प्रबंधन के बढ़ते इस्तेमाल पर उन्होंने बताया कि ‘इलेक्शन मैनेजमेंट का काम मुख्य काम चुनावी वक़्त में नेताओं का कार्यभार व चुनावनीति बनाने का होता हैं। दरसल चुनावी दौर में नेता हर जगह भृमण नहीं कर पाते है और उनकी बात को जगह जगह मतदाताओं तक पहुँचाने का काम करती हैं इलेक्शन मैनजमेंट कंपनी। सोशल मीडिया,चौक पे चर्चा,डोर टू डोर जैसे संसाधनों का उपयोग कर नेताओं को उनकी मंजिल तक पहुचाने का काम आसान करती हैं इलेक्शन मैनेजमेंट कंपनी और आजकल चुनाव के समय ऐसी कम्पनियों की मांग अधिक हो चुकी हैं,हर कोई नेता इन कम्पनियों का दामन थामना चाहता हैं क्योंकि चुनाव में लड़ने के लिए संजीवनी का काम करती हैं इलेक्शन मैनेजमेंट कंपनी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here