संजय-राउत-ने-सोनू-सूद-पर-साधा-निशाना-कहा-बीजेपी-के-एजेंट-हैं-सोनू-thesecularindia

कोरोना वायरस के कारण लगे लॉकडाउन के दौरान मुंबई और देश के कई अन्य राज्यों में फसे प्रवासी मज़दूरों को उनके घर पहुँचाने के लिए पूरे देश में अभिनेता सोनू सूद की तारीफ़ हो रहीं हैं। वहीं दूसरी ओर शिवसेना के नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने इसे महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ़ राजनीतिक चाल बताया हैं। रविवार को शिवसेना के मुख्यपत्र ‘सामना’ में सोनू सूद पर निशाना सधते हुए संजय राउत ने लिखा ‘लॉकडाउन के दौरान जब किसी को भी कहीं जाने की अनुमति नहीं हैं तो भला सोनू सूद को बसों की अनुमति कौनसा राजनीतिक दल दे रहा हैं’
ये सब बीजेपी सिर्फ़ महाराष्ट्र सरकार की छवि ख़राब करने के लिए कर रहीं हैं सोनू सूद को अचानक से एक महात्मा बना दिया गया हैं

संजय राउत ने कहा ‘ सोनू सूद को 2024 में आने वाले लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री का चेहरा घोषित कर देना चाहिए। बसों में भेजें जा रहें मजदूरों के लिए पैसा कहा से आ रहा हैं इस पर भी सवाल उठाये। राउत ने आगे लिखा ‘ सोनू सूद बीजेपी के एजेंट के तौर पर काम कर रहे हैं और जल्द ही मोदी उन्हें मुंबई का सेलेब्रिटी मैनेजर भी बना देंगे’।

संजय राउत के इस लेख पमशहूर फ़िल्म निर्माता अशोक पंडित ने ट्वीट कर कहा ‘ सोनू सूद और उन सभी को जो जरूरतमंद लोगो की मदद कर रहे हैं बजाए प्रोत्साहित करने के संजय राउत उनकी आलोचना कर रहें हैं। हमेशा ग़रीब जनता की मदद करने वाले आदरणीय बालासाहेब से जुड़े हुए जब इस तरह की बात करते हैं तो बड़ा दुख होता है’।

संजय राउत के आलोचना करने के बाद सोनू सूद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मिलने उनके निवास स्थान मातोश्री पहुँचे। उद्धव ठाकरे से मिलने के बाद सोनू सूद ने मीडिया से कहा कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक हर सरकार मेरे साथ हैं। मुझें सभी पार्टियों का समर्थन हैं। इससे पहले सोनू सूद ने 31 मई को महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से भी मुलाकात की थी।

देश भर में सभी सोनू सूद के नेक काम की प्रशंसा कर रहें हैं। बीते कुछ दिन पहले उत्तराखंड के प्रवासी मजदूरों की मदद कर उन्हें उन के घर तक पहुँचने के लिए उत्तराखंड के सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सोनू सूद का आभार प्रकट किया था साथ ही सोनू को उत्तराखंड आने का निमंत्रण भी दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here