गैंगस्टर-विकास-दुबे-एनकाउंटर-में-ढ़ेर-गाड़ी-पलटने-के-बाद-भागने-की-कोशिश-की-thesecularindia

बीते 7 दिनों से देश भर में चर्चा का विषय बने हुए कानपुर एनकाउंटर का मुख्य आरोपी और कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे आज उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया गया. विकास दुबे मध्य प्रदेश के उज्जैन में महाकाल के दर्शन के लिए मंदिर आया था. उसने स्वयं सबसे पहले महाकाल मंदिर के गार्ड को बताया कि वह विकास दुबे है कानपुर वाला फिर गार्ड ने मंदिर प्रांगण में तैनात पुलिस को सूचना दी. बता दें कि विकास दुबे की तलाश 6 राज्यों की पुलिस कर रही थी. विकास दुबे को ट्रांजिट रिमांड में लेने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस उज्जैन के लिए रवाना हो चुकी है. उत्तर प्रदेश पर पहले 25 हजार का इनाम था जो कि बाद में 5 लाख कर दिया गया था।

कानपुर कांड के मुख्य आरोपी कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, ‘विकास दुबे अभी मध्यप्रदेश पुलिस की कस्टडी में है. विकास क्रूरता की हदें शुरू से ही पार कर रहा था. वारदात होने के बाद से ही हमने पूरी मप्र पुलिस को अलर्ट पर रखा था.

विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी उज्जैन पुलिस को बधाई दी है. शिवराज ने ट्वीट किया, ‘जिनको लगता है की महाकाल की शरण में जाने से उनके पाप धूल जाएँगे उन्होंने महाकाल को जाना ही नहीं. हमारी सरकार किसी भी अपराधी को बख्श्ने वाली नहीं है.

इससे पहले विकास दुबे के दो साथी आज ही एनकाउंटर में UP पुलिस के द्वारा मारे गए। इनमें से एक प्रभात मिश्रा पुलिस हिरासत से भागने की कोशिश कर रहा था, जिसके बाद एनकाउंटर में उसे ढेर कर दिया गया. बता दे कि प्रभात मिश्रा को बुधवार को फरीदाबाद से गिरफ्तार किया गया था. इसके अलावा विकास दुबे गैंग का एक और मोस्ट वांटेड क्रिमिनल बबन शुक्ला भी इटावा में मार गिराया गया।

कानपुर पुलिस की विशेष टीम सुबह फरीदाबाद में गिरफ्तार किए गए विकास दुबे के साथी प्रभात मिश्रा को रिमांड पर लेकर कानपुर आ रही थी। तभी उसी वक्त पनकी थाना क्षेत्र में आरोपी प्रभात मिश्रा पुलिस की पिस्टल छीनकर भागने का प्रयास करने लगा. और उसने पुलिस पर फायरिंग किया, जिसमें ATS के दो अधिकारी गंभीर रूप से घायल हो गए.

जिसके बाद जवाबी कार्यवाही में पुलिस द्वारा किए गए फायर में बदमाश प्रभात घायल हो गया, जिसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत की पुष्टि की गई. बता दे कि बुधवार को फरीदाबाद पुलिस ने प्रभात मिश्रा को 2 अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार किया था और इसके पास से 4 पिस्टल बरामद हुए थे, जिसमें से 9mm की 2 पिस्टल पुलिस से ही लूटी हुई थी.

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विकास दुबे की गिरफ्तारी के मामले पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बातचीत की है। जिससे यह साफ हो गया है कि आज ही मध्य प्रदेश पुलिस अब विकास दुबे को यूपी पुलिस को हैंड ओवर करेगी। वही दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव गृह व सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने भी विकास दुबे की गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here