Rajasthan-congress-mla-thesecularindia

जहाँ पूरा देश इस वक़्त एकजुट होकर कोरोना वायरस को हराने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा हैं। वही दूसरी और राजस्थान की गहलोत सरकार रिसोर्ट रिसोर्ट खेलने में व्यस्त हैं। राजस्थान में जारी राजनीतिक संकट के बीच सूबे की कांग्रेस सरकार ने अपने सभी विधायकों को रिसोर्ट में रखा हुआ हैं।

राजस्थान में कोरोना से अब तक अट्ठाईस हज़ार से अधिक लोग संक्रिमित हो चुके हैं। वही पाँचसौ से ज्यादा लोगो की जान भी चुकी हैं। भीलवाड़ा मॉडल की तारीफ़ बेशक पूरे देश में की गई हो मगर इसका मतलब कोरोना वायरस का जड़ से खात्मा कतई नही हो सकता।

महामारी के इस मुश्किल वक़्त में सरकार से उम्मीद लगाए बैठी जनता को क्या पता था के उनके विधायक और मंत्री जनता की सेवा करने के बजाए होटल में बैठ कर पिज़्ज़ा पास्ता बनाना सीखेंगें। जनता की दुर्दशा पर ध्यान देने की बजाए मुग़ल ए आजम देखेंगे।

गौरतलब है सचिन पायलट को उपमुख्यमंत्री पद से हटाए जाने के बाद अब अशोक गहलोत से फ्लोर टेस्ट की मांग उठने लगी। सरकार और विपक्ष के आरोप प्रत्यारोप के इस खेल में जनता बेहाल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here