narendra-modi-thesecularindia-thesecularindia

बिहार में चुनाव नज़दीक आते ही प्रदेश में विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास भी शुरू हो गया हैं। हालांकि भाजपा कि ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लिट्टी चोखा खाकर पहले ही बिहार चुनाव का आगाज़ कर चुके हैं पर अब चुनाव के नजदीक आते ही जनता को लुभाने के लिए अलग अलग योजनाए भी आनी शुरू हो गई हैं।

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 516 करोड़ की कोसी रेल महासेतु (मेघा-ब्रिज) सहित रेलवे से संबंधित अन्य 12 परियोजनाओ का उद्घाटन किया। इस मौके पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी बिहार के गृहराज्य मंत्री नित्यानंद राय साथ ही भारत सरकार में कैबिनेट मंत्री रामविलास पासवान, गिरिराज सिंह एवं रविशंकर प्रसाद भी मौजूद रहे।

गौरतलब है प्रधानमंत्री बीते कुछ दिनों के भीतर बिहार में 16000 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास कर चुके है। जल्द ही बिहार में चुनाव की तारीखों का एलान भी हो जाएगा उम्मीद है उससे पहले बिहार की जनता को और कई योजनाओं की सौगात मिल सकती हैं।

वर्चुअल सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा के बिहार में नदियों के विस्तार के कारण ज्यादातर हिस्से एक दूसरे से कटे रहे जिसके कारण लोगो को काफ़ी लम्बा रास्ता तय करना पड़ता था रेलमंत्री रहते हुए रामविलास पासवान जी ने इस दिशा में कई काम किये मगर उसके बाद लम्बे वक़्त तक इस पर ध्यान नहीं दिया गया दशकों से विकास से वंचित लोगो को आज मिथला और कोसी को जोड़ने वाला महासेतु बिहारवासियों की सेवा में समर्पित हैं।

लगभग साढ़े आठ दशक पहले भूकंप के कारण मिथला और कोसी के बीच बना रेलवे ब्रिज टूट गया था। जिसके बाद स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी जी ने मिथला और कोसी क्षेत्र के लोगो की दिक़्क़तों को दूर करने के उद्देश्य से कोसी रेल महासेतु कि परिकल्पना की गई थी पर 2004 में अटल जी की सरकार चली गई जिसके बाद कोसी रेल मार्ग का काम भी बिल्कुल धीमे हो गया।

चुनावी सरगर्मी के बीच बिहार में आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला भी शुरू हो गया हैं प्रधानमंत्री ने राजद प्रमुख लालू यादव औऱ कांग्रेस निशाना साधते हुए कहा के अगर बिहार के लोगो की जरा भी फिक्र होती तो उस वक़्त के रेल मंत्री या उस वक़्त की सरकार ने इस योजना पर ध्यान दिया होता।

जानिए कौन कौन से रेल सेवाओ को दिखाई गई हरीझंडी।

● हाजीपुर से वैशाली के लिए हाजीपुर-वैशाली-सुगौली नई रेल लाइन का उद्घाटन किया गया।

● इस्लामपुर से तिलैया के लिए नई रेलवे लाइन का उद्घाटन किया गया।

● मुज़फ़्फ़रपुर- सीतामढ़ी, समस्तीपुर – दरभंगा – जयनगर रेलखंडों के लिए भी नई परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here