केजरीवाल-से-लगाई-पिता-के-ईलाज-की-गुहार-नहो-मिली-कोई-मदद-thesecularindia

दिल्ली में कोरोना संक्रिमितो के बढ़ते आकड़े के साथ अब दिल्ली सरकार के इंतज़ामों पर भी सवाल उठने लगें हैं। दिल्ली में एक बेटी अपने कोरोना संक्रिमित पिता को अस्पताल में भर्ती कराने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल,उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया,स्वास्थ्यमंत्री सत्येंद्र जैन से गुहार लगाती रही पर बहरी व्यवस्था के कानों तक उसकी आवाज़ नहीं पहुंची।

दरअसल दिल्ली में रहने वाली कमलप्रीत के पिता 2 जून को कोरोना संक्रिमित हो गए थे। टेस्ट पोस्टिव आने के बाद डॉक्टर ने उन्हें होम आइसोलेशन की सलहा दी। पर अचानक 4 जून को उनकी तबियत बिगड़ गई। परिवार के सदस्य उन्हें अस्पताल ले गए पर वहाँ उन्हें भर्ती करने से मना कर दिया।

जिसके बाद कमलप्रीत ने ट्वीट कर दिल्ली सरकार से मदद मांगी। कमलप्रीत ने ट्वीट कर लिखा’ मेरे पिता को तेज़ बुख़ार हैं। हमें उन्हें LNJP अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत हैं। पर वो हमें अंदर नही जाने दे रहे हैं। मेरे पिता को कोरोना,तेज़ बुख़ार और साँस लेने में परेशानी हैं। वह बिना मदद के नही बच पाएंगे। बेटी पिता को बचाने के लिए गुहार लगाती रही पर उसकी किसी ने नहीं सुनी थोड़ी ही देर बाद अमरप्रीत के पिता की मौत हो गई।

कमलप्रीत का आरोप हैं के कोई भी हेल्पलाइन नंबर काम नही कर रहा था और दिल्ली के सभी कोरोना अस्पतालों ने उनके पिता को भर्ती करने से मना कर दिया। हालांकि LNJP अस्पताल के अधकारियों का कहना है जब उन्हें यहाँ लाया गया वह पहले ही मर चुके थे। हमारे पास बेड़ की कोई कमी नहीं हैं।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली सरकार द्वारा जारी किए गए 7 अस्पतालों की लिस्ट पर जब दैनिक भास्कर ने फोन मिलाया तो 3 अस्पतालों ने बेड़ उपलब्ध नही हैं।जबकि 4 अस्पतालों ने भर्ती करने से मना कर दिया। दिल्ली में कोरोना के आकड़े दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहें हैं।ऐसे में दिल्ली के अस्पतालों का ये हाल चिंताजनक हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here