फरवरी के अंतिम सप्ताह में उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा में दिल्ली पुलिस ने आम आदमी पार्टी के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ चार्जशीट दायर कर ली हैं।

दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को कड़कड़डूमा कोर्ट में दायर चार्जशीट में ताहिर हुसैन जेनएयू के पूर्व छात्र नेता उमर ख़ालिद,ख़ालिद सैफ़ी और पिंजरा तोड़ सगंठन को मुख्य आरोपी बताया हैं। दायर चार्जशीट के अनुसार ताहिर हुसैन ने उमर ख़ालिद के साथ मिल कर पहले ही हिंसा की पूरी तैयारी कर ली थी। जिसके लिए उसे इस्लामिक संग़ठन पीएफआई ने आर्थिक मदद करी थी।

ट्रम्प के आने पर कुछ बड़ा होने वाला हैं

दिल्ली पुलिस के अनुसार ताहिर ने उमर खालिद से ट्रम्प के आने पर कुछ बड़ा होने की बात कही थी। जिसके लिए शहीन बाग़ में एक मीटिंग भी की गई थी। पुलिस को दोनों की कॉल रेकॉर्डिंग और व्हाट्सएप मैसेज भी मिले हैं। पुलिस के मुताबिक दोनों काफ़ी लंबे वक़्त से दंगो की प्लानिंग में लगे थे। उमर ख़ालिद ने ही ताहिर को ख़ालिद सैफ़ी पर पिंजरा तोड़ संगठन की नताशा और अन्य साथियों से मिलवाया था। जिन्होंने लोगों को इक्कठा कर उन्हें भड़काया था।

जनवरी में ही हिंसा की तैयारी कर ली थी

पुलिस के मुताबिक दिल्ली हिंसा की पूरी तैयारी जनवरी में ही कर ली गई थी। जानवरी के शुरुवाती दिनों में ही ख़ालिद सैफ़ी ने पीएफआई के साथ मिलकर ताहिर हुसैन की फर्ज़ी कंपनियों में 1 करोड़ 10 लाख रूपये ट्रांसफर कराये थे। जिसके बाद ताहिर ने वो पैसे सीएए कानून के खिलाफ़ प्रदशर्न कर रहे लोगो में हिंसा भड़काने के लिए बाटे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here